करता है उन्मुक्त हास मन, मेरी श्रद्धा ही मेरी आस।। बनकर जीवन एक मृदु पवन, दे जाये मधु आभास।।मेरा आस -पुंज प्रज्वलित, बनकर तम का दृढ़ सहारा।। यह तो प्रेरणा जीवन की, है जीवन का मधुर किनारा।।




निद्रा-संसार


Thursday, 30 July 2020 01:31:36
Manju Thapa

संवेदना के गहरे पार,

              ये स्नायु तंत्र बिखर जाता है।
झीने दुःखों के खुले द्वार
              और जल कुंड झर जाता है।
इस चेतन मन के स्पंदन में,
    &nbs

Read More


जब प्यार होता है


Thursday, 09 July 2020 00:58:14
Manju Thapa

जब प्यार होता है।

ये संसृति रुक जाती है साथ हमारे
एक क्षण बहुत संवेदनाएं जी लेता है
सुदूर क्षेत्र तक जाती है ध्वनियां
और मस्तिष्क उन्हें खोज़ लाता है

जब प्यार होता है।
एक पल में कई सदियां गिना देता है<

Read More


एक प्रश्न


Wednesday, 08 July 2020 06:58:17
Manju Thapa

अवकाश हुआ बीते दिनों का,

मिल तो लेते कहीं  से।।

जीकर देखो हमारी ये  यात्रा,
वापस आओगे वहीँ से।।

कैसे दोगे उलाहना फिर हमें

Read More




Wednesday, 08 July 2020 06:51:40
Manju Thapa

उलझे से सवालों में  छोड़  जाती ज़िन्दगी।


ढूँढों तो जाने कितने रंग दिखाती ज़िन्दगी।

डायरी का पन्ना नहीं फाड़ कर फेक दिया।

हर नए  मोड़ पर खड़ा कर लाती ज़िन्दगी।

बरस बिता दो इसमें या पल ग

Read More


जीवन


Wednesday, 08 July 2020 06:43:20
Manju Thapa

जीवन एक अनुसंधान है।।


अनुभव के कारागार में रहकर
बुनता  नयी पहचान है।।

छुप जाता आँखों से कभी जो
प्रत्यक्ष उसका सचान है।।

भूल का साक्षात्कार कराकर
देता हितकारी ज्ञान है।।

Read More

Search By: Subject Content


Most Recent